सुप्रीम कोर्ट का सरकार से सवाल, कुछ लोगों के पास लाखो करोड़ो के नए नोट कहां से आए?

 सुप्रीम कोर्ट का सरकार से सवाल, कुछ लोगों के पास लाखो करोड़ो के नए नोट कहां से आए?





नोटबंदी से अभी तक लोगो को राहत न मिलने और बैंको और एटीएम में लंबी लंबी लाइने लगी है वही सुप्रीम कोर्ट ने देश के अलग-अलग हिस्सों में छापेमारी के दौरान लगातार नए नोटों के मिलने पर नाराजगी जाहिर की है। कोर्ट ने नोटबंदी से लोगों को अंतरिम राहत देने की मांग वाली याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रखा है।नोटबंदी पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से पूछा कि कुछ लोगों के पास नए नोट कहां से आ रहे हैं। जबकि लोगों को हफ्ते में 24 हजार रुपये भी नहीं मिल रहे हैं। कोर्ट ने ये भी सवाल किया कि बैंकों को नई करेंसी देने की सरकार की नीति क्या है? 


सुप्रीम कोर्ट द्वारा किए गए सवाल के जवाब में अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने सरकार का पक्ष रखा। अटॉर्नी जनरल ने कहा कि सरकार इन दिक्कतों को दूर करने के लिए ज्यादा काम कर रही है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि आरबीआई नोटबंदी के बाद अब तक 5 लाख करोड़ रुपये की नई करंसी जारी कर चुका है। इस दौरान उन्होंने माना कि कुछ बैंक के मैनेजर गड़बड़ी कर रहे हैं जिसके चलते आम लोगों को दिक्कतें हो रही हैं। सरकार दोषियों पर सख्त कार्रवाई करेगी। 



 नोटबंदी  8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1000 रुपये के प्रचलित नोटों के तत्काल प्रभाव से अमान्य होने और उनकी जगह 500 और 2000 रुपये के नए नोटों के जारी किए जाने का ऐलान किया था। कैश की कमी की वजह से सरकार ने बैंकों और एटीएम से पैसे निकालने की भी सीमा तय कर दी है। बैंक से एक सेविंग अकाउंट से शुरुआत में एक दिन में 10 हजार रुपये और सप्ताह में 20 हजार रुपये तक निकालने की सीमा तय की गई थी। बाद में सरकार ने एक सप्ताह में अधिकतम 24 हजार रुपये तक निकालने की छूट दी, इसे एक बार में भी निकाला जा सकता है। लेकिन कैश की कमी की वजह से कई बार बैंक एक बार में 24 हजार देने से इनकार कर रहे हैं। इसी तरह एटीएम से शुरुआत में एक दिन में अधिकतम 2 हजार रुपये निकालने के सीमा तय थी जिसे बाद में बढ़ाकर ढाई हजार किया गया। हालांकि ज्यादातर एटीएम में सिर्फ 2 हजार के नए नोट होने की वजह से लोग 2 हजार ही निकाल पा रहे हैं। सरकार ने बैंक और एटीएम से पैसे निकालने की सीमा बढ़ाने की बात कही थी, लेकिन अभी तक सीमा नहीं बढ़ाई गई है।


0/Post a Comment/Comments

Thanks For Visiting and Read Blog

Stay Conneted