दिल्ली सरकार के सरकारी स्कूलों ने किया धमाल , SBSC में सरकारी स्कुल के सामने प्राइवेट स्कुल रहे पीछे





नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी की दिल्ली में सरकार आने के बाद केजरीवाल ने शिक्षा और स्वस्थ को पहले स्थान पर जगह दिया था। केजरीवाल सरकार शिक्षा और स्वाथ्य सुधरने के लिए अबतक कटिबध्य नजर आयी है। स्वास्थ्य विभाग में जबरजस्त कार्य किया लोगो  के  घर के पड़ोस में मुहल्ला क्लिनिक मुफ्त की दवा और डॉक्टरों को मुहैया कराकर आप ने लोगों की ज़िदगी बदल दी  शिक्षा के मामले में सर्टिफिकेट अभी मिला है। CBSE 2017  सीबीएसई 12वीं के नतीजों में सरकारी स्कूलों ने साल में लाखों रुपये लूटने वाले प्राइवेट स्कूलों को धूल चटा दी है। 




वहीं सरकारीस्कूलों के अपेक्षा प्राइवेट स्‍कूलों की तुलना करें तो कम सुविधाओं में पढ़े बच्‍चों ने बाजी मारी है।   सरकारी स्‍कूलों के 82.29 प्रतिशत बच्‍चे पास हुए जब‍कि प्राइवेट स्‍कूलों के 79.27 प्रतिशत ही बच्चे पास कर पाए। व्यक्तिगत तौर पर तो छात्रों ने टॉप किया ही है। लेकिन स्कूल स्तर पर जवाहर नवोदय विद्यालय ने देश में परचम फहरा इतिहास बना दिया है।  प्राइवेट स्कूलों के नतीजों से दिल्ली सरकार के स्कूलों के नतीजे 9 फीसदी ज्यादा बेहतर रहे है। CBSC द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, 6 कैटेगिरी के विधालयो में जवाहर नवोदय विद्यालय पहले नम्बर पर रहा है। जवाहर नवोदय के 95.73 प्रतिशत बच्चे 12वीं की परीक्षा में पास हुए हैं। वही दूसरे नम्बर पर केन्द्रीय विद्यालय संगठन का कब्जा रहा है। केन्द्रीय विद्यालय के 94.60 प्रतिशत बच्चे 12वीं की परीक्षा में सफल हुए हैं।  तीसरे नम्बर पर सेंट्रल तिब्बेतन स्कूल रहा है। इस स्कूल के 83.57 प्रतिशत बच्चे पास हुए हैं। जबकि इस स्कूल की पुरे देशभर में कई शाखाए कार्यरत हैं।



दिल्ली के द्वारिका विधान सभा की सभी सरकारी स्कूलों ने परचम लहराया है। दिल्ली सरकार के नवोन्मेषी नीतियों और मनीष सिसोदिया जैसे शिक्षा मंत्री लगातार नजर रखने वाले अभिभावकीय शिक्षा-मंत्री की मेहनत और आदर्श शास्त्री के  जैसे दूरदर्शी सोंच वाले विधायक के दिशा निर्देश से द्वारकाविधानसभा का रिजल्ट औसत 97.3% रहा। शिक्षकों और शिक्षा-विभाग को देख रही टीम ने जी तोड़ मेहनत की थी ,आगे और भी बेहतर परिणाम के लिए कार्यरत है। द्वारका विधानसभा के सर्वोदय कन्या बाल विद्यालय पॉकेट 7 दुर्गा पार्क का 12 का परीक्षा परिणाम 100% आया है । इसके अलावा विधानसभा के बाक़ी स्कूल में सागरपुर सर्वोदय कन्या विद्यालय  97% रहा वही  सागरपुर सर्वोदय कन्या विद्यालय 99% और सर्वोदय बाल विद्यालय दुर्गा पार्क 99% रहा इसके साथही  GBSSSS नम्बर १ सागरपुर 96% नतीजे रहे। इस तरह द्वारका के सभी स्कूल का औसत परिणाम प्रतिशत 97.33 % रहा।


लड़कियों ने मारी बाजी 

सीबीएसई 12वीं की परीक्षा के नतीजे की बात करें तो हर बार की तरह से इस बार भी लड़कियों के हाथ बाजी लगी है। पिछले वर्ष 88.58 प्रतिशत लड़कियां तो 78.55 प्रतिशत लड़के पास हुए थे।
वहीं इस बार 2017 के रिजल्ट में भी लड़कियां परचम लहराई हुई हैं।बारहवीं में जहां 87.50 प्रतिशत लड़कियां पास हुई हैं, तो 78 प्रतिशत लड़के ही पास हो पाए हैं। दिल्ली सरकार ने पढ़ाई बेहतर करने के लिए स्कूलों में कई कदम उठाए थे।  सरकारी स्कूलों में नये नये  प्रयोग किए गए। स्कूलों में बेहतर इमारतें दी गई। शिक्षकों को विदेशो  ट्रेनिंग दिलाई गयी। देश भर के एक्सपर्ट की सहायता ली गयी।  इस सब का नतीजा है कि परिणाम प्राइवेट स्कूलों से  सरकारी स्कूलों के बेहतर रेसल्ट आए है।





0/Post a Comment/Comments

Thanks For Visiting and Read Blog

Stay Conneted