मोदी के पास विज़न के नाम पर सिर्फ टेलीविज़न : कुमार विश्वास




Aam Aadmi Party
डॉ कुमार विश्वास और आप एमएलए 

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रिय प्रवक्ता व राजस्थान प्रभारी डॉ कुमार विश्वास ने राजस्थान विधानसभा 2018 के चुनाव का शंखनाद कर दिया है। विश्वास ने जनसभा का सम्बोधन महत्मा गाँधी और लाल बहादुर शास्त्री जी को सम्बोधन से शुरू किया। उन्होंने कहा शास्त्री जी ने हमलोगो को बतलाया की राजनीती में आंदोलन कैसे जिन्दा रख्खा जा सकता है और शायद प्राकृतिक ने इन दोनों को एकही दिन पैदा करके देश के लोकतंत्र को उपहार दिया है।   


मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा की आजकल राजनीती में अपने माँ और परिवार का इस्तेमाल करते है। के नोटबंदी के फैसले पर विश्वास ने कहा कि इकोनॉमी कैशलेश हो गई, सरकार शेमलेस हो गई। साथ ही  उन्होंने कहा कि देश और लोकतंत्र का दुर्भाग्य है कि देश की शीर्ष सोच पर काबिज संगठन के लोग गांधीजी की हत्या को गांधी वध कहते हैं। जब जनता के बीच पूज्य गाँधी जी बोलते है। 






पार्टी कार्यकर्ताओ को हौसला देते हुए कुमार विश्वास ने कहा कि पार्टी बनाते समय बहुत से लोग अपनी नौकरियां छोड़कर आये थे, हमें ऐसे ही लोगो के सहारे इस पार्टी को आगे बढ़ाना है। साथ ही कहा कि देश के अच्छे कार्यकर्ता आम आदमी पार्टी के साथ हैं, जो न टिकट की डिमांड करते हैं और न किसी तरह का कॉन्ट्रैक्ट चाहते हैं। वे अक्सर कहा करते है कि आम आदमी पार्टी की कार्यकर्ता हिरा है जो किसी प्रकार की लालच में नहीं रहता है चने खाकर भी लड़ता रहता है। कुमार के सम्बोधन का पूरा वीडियो निचे देख सकते है।





विश्वास ने कहा कि हमलोग ऐसे देश की कल्पना नहीं की जहां इस्लाम से हिंदुत्व या हिंदुत्व से इस्लाम डरे। साथ ही उन्होंने नोटबंदी पर सवाल उठाते हुए बीजेपी पर हमला किया और कहा कि इकोनॉमी कैशलेश हो गई,  और सरकार शेमलेस हो गई। उन्होंने कहा कि इस देश को विपक्ष की नहीं बल्कि विकल्प की जरुरत है। भाजपा के राष्ट्रवाद को 'धृतराष्ट्रवाद' से तुलना करते हुए डॉ विश्वास ने चुटकी लेते हुए कहा कि हमें अब बोलना ही होगा, ओढ़े हुए मौन से काम नहीं चलेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'इवेंट मैनेजर' बताते हुए उन्होंने कहा कि मोदी जी के पास विज़न के नाम पर सिर्फ टेलीविज़न ही है। 




कार्यकर्ताओ से कहा कि दिल्ली सरकार के उपलब्धियों और बीजेपी के पाखंड गलत नीतिओ को राजस्थान के गली-गली , जन - जन तक पहुंचना है। हमे पूरी शक्ति के साथ लड़ना है। 2014 लोकसभा चुनावों को 'पार्टी की जल्दबाज़ी' बताते हुए विश्वास ने कहा कि यह जल्दबाजी करना हमारी भूल थी और जिसका हमको बड़ा नुकसान उठाना पड़ा। कुमार  विश्वास ने कहा कि दुर्भाग्य से हमारी पार्टी के कुछ हिस्सों में भी गणेश परिक्रमा की परम्परा आने लगी है। जिसे सुधरने की जरुरत है।


0/Post a Comment/Comments

Thanks For Visiting and Read Blog

Stay Conneted