अडानी के खिलाफ आस्ट्रेलिया में जोरदार प्रदर्सन



आस्ट्रेलिया में अडानी ग्रुप के खिलाफ प्रदर्सन 

भारत की बड़ी औद्योगिक कंपनी अडानी समूह के ख़िलाफ़ ऑस्ट्रेलिया में जोरदार प्रदर्शन हो रहा हैं। जानकारों का कहना है कि ऑस्ट्रेलिया में अडानी का बहुत कुछ दांव पर लगा हुआ है।  शुक्रवार और शनिवार के दिन बड़ी संख्या में ऑस्ट्रेलिया के अलग-अलग जगहों पर बड़े अस्त र पर बिरोध प्रदर्सन किया और  प्रदर्शनकारियों ने अडानी समूह के ख़िलाफ़ नारेबाज़ी भी किया। 





अडानी की कम्पनी ऑस्ट्रेलिया में कोयला खदान शुरू करना चाहता था। बताया जा रहा है यह ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी कोयला खदान बनाने की तयारी थी। लेकिन पर्यावरण और आर्थिक कारणों की वजह से यह योजना कई सालों से बिबादो की वजह से लटकी आ रही  है। आस्ट्रेलिया का पर्यावरण समूहों का कहना है कि क्वींसलैंड में कोयला खदान शुरू होने से ग्लोबल वॉर्मिंग का ख़तरा बढ़ जाएगा साथही इससे विश्व प्रसिद्ध ग्रेट बैरियर रीफ़ को भी नुकसान पहुंचने की संभावना अधिक है।





STOP ADANI अभियान

"स्टाप अडानी" अभियान के एक सदस्य ने बताया कि सिडनी के बोंडी तट पर हजारो लोगो ने इकट्ठा होकर  'स्टॉप अडानी' का मानव श्रृंखला बनाया। अडानी की कोयला खदान योजना के ख़िलाफ़ 'स्टॉप अडानी' नामक अभियान के अंतर्गत लगभग 50 जगहों पर  विरोध प्रदर्शन आयोजित किया गया। ऑस्ट्रेलिया की स्थानीय मीडिया ने दावा किया है कि आधे से ज़्यादा ऑस्ट्रेलियाई नागरिक इस खदान के विरोध में आ गए हैं।

#STOPADANI
अडानी के बिरुद्ध प्रदर्सन 


ऑस्ट्रेलिया के विशेषज्ञों और जानकारों का मानना है कि अडानी इस खदान के लिए फंड दे भी पाएंगे या नहीं, जिसकी शुरुआती लागत 400 करोड़ डॉलर है। ऑस्टेलियाई नहीं चाहते की ये कोयला खदान शुरू हो। दूसरी तरफ, अडानी समूह का कहना है कि इस योजना के जरिए कई लोगों को नौकरियां मिलेंगी, साथ ही भारत को कोयला निर्यात किया जाएगा जिससे ग्रामीण इलाकों में बिजली पहुंचाई जा सकेगी।




अडानी ने इस योजना के लिए रेल लिंक शुरू करने के मकसद से उत्तरी ऑस्ट्रेलिया इंफ्रास्ट्रकचर फेसिलिटी (NAIF) से 70 करोड़ डॉलर से ज़्यादा का ऋण लेने का प्रस्ताव भी रखा हुआ है। अडानी समूह का कहना है कि अगर कॉमर्शियल बैंक पूरा कर्ज उठा लेगा तो उन्हें एनएआईएफ से पैसा लेने की कोई जरूरत नहीं है।





0/Post a Comment/Comments

Thanks For Visiting and Read Blog

Stay Conneted