केजरीवाल सरकार का ऐतिहासिक फैसला , माता पिता बच्चो को स्कुल के अंदर देख सकगे लाइब


Delhi Govt Student
दिल्ली मुख्यमंत्री श्री अरविन्द केजरीवाल


दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के माता-पिता के लिए जल्द ही केजरीवाल सरकार द्वारा बड़ा तोहफा मिलने वाला है। स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के पैरेंट्स की सबसे बड़ी चिंता यही होती है कि उनका बच्चा स्कूल गया है कि नहीं या क्या कर रहा है।  हर दिन इस बात की चिंता  करते रहते हैं की घर से स्कूल के लिए निकला बच्चा क्लास रूम में है या नहीं, पढ़ रहा है या घूम रहा है। 



दिल्ली के अभिभावकों को दिल्ली की सत्ताधारी केजरीवाल सरकार अब एक बड़ाकदम उठाने जा रही है। दिल्ली सरकार अपने तमाम सरकारी स्कूलों के हर क्लास रूम में CCTV कैमरा लगवाने का काम शुरु कर चुकी है।  इस प्रोजेक्ट की सबसे दिलचस्प बात यह है कि केजरीवाल सरकार इन सीसीटीवी कैमरों का सीधा प्रसारण अभिभावकों को उनके मोबाइल फोन पर ऐप के जरिए मुहैया करवाएगी। इस तरह की तकनीक व्यापक स्तर पर इस्तेमाल करने वाला दिल्ली देश का पहला राज्य होगा। 

इसके बाद अभिभावक अपने मोबाइल फोन पर जब चाहे तब अपने बच्चे की स्थिति देख सकेंगे कि उनका बच्चा क्लास रूम में मौजूद है या नहीं, मौजूद है भी तो क्या वह अपनी क्लास में पढ़ रहा है या नहीं। स्कूल के दौरान अभिभावकों को यह पता चलता रहेगा कि उनका बच्चा स्कूल में क्या कर रहा है। 



सरकार हर स्कूल के क्लासरूम में 3 सीसीटीवी कैमरे लगवा रही है।  केजरीवाल सरकार के अंतर्गत आने वाले हर स्कूल के क्लास में लगे सीसीटीवी कैमरे का नियंत्रण दिल्ली सरकार के आईटी और शिक्षा विभाग के पास होगा। सरकार एक मोबाइल एप के जरिए हर अभिभावक को उनके बच्चों की क्लास और रोल नंबर के आधार पर एक यूजर,पासवर्ड के जरिए एक्सेस मुहैया कराएगी। अभिभावक इस मोबाइल एप के जरिए सिर्फ अपने बच्चे की क्लास का सीसीटीवी फुटेज लाइव देख पाएंगे। 

दिल्ली सरकार का कहना है कि अभिभावकों को अपने बच्चों की सुरक्षा की फिक्र कम हो जाएगी साथ ही उन्हें पता चलेगा कि उनका बच्चा स्कूल में नियमित रुप से आता है की नहीं।  बुधवार को दिल्ली सरकार ने स्कूलों में सीसीटीवी लगाने वाले प्रोजेक्ट की समीक्षा किया है। समीक्षा बैठक के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट के जरिए यह जानकारी दी है कि सरकार जल्दी ही हर अभिभावक को उनके बच्चों की क्लास रूम का सीसीटीवी फुटेज उनके मोबाइल फोन पर लाइव मुहैया कराएगी। 




सीएम का कहना है कि इस टेक्नोलॉजी को अपनाने से तंत्र में पारदर्शिता आएगी और जिम्मेदारी बढ़ेगी साथही बच्चों की सुरक्षा भी तय की जा सकेगी।  देश के किसी भी राज्य में इस तरह की व्यवस्था अभी तक उपलब्ध नहीं है।  अगर अरविन्द  केजरीवाल सरकार अपने इस मिशन में सफल होती है तो दिल्ली शिक्षा के क्षेत्र में तकनीक के इस्तेमाल से सुरक्षा सुनिश्चित करने वाला देश का पहला राज्य बनेगा। 

0/Post a Comment/Comments

Thanks For Visiting and Read Blog

Stay Conneted