चुनाव आयोग से पहले बीजेपी आईटी ने किया चुनाव की तारीख की घोषणा, क्या लाखों ईवीएम सुरक्षित?


चुनाव आयोग से पहले  बीजेपी आईटी ने किया चुनाव की तारीख की घोषणा, क्या लाखों ईवीएम सुरक्षित?
 Election Commission & Amit Malviya 

नई दिल्ली : मंगलवार को कर्नाटक विधानसभा चुनाव के घोषणा पर विवाद हो गया है। मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ऐलान किया कि कर्नाटक में 12 मई को चुनाव कराए जाएंगे। यह सिंगल फेज इलेक्शन होगा। इसके साथ ही कर्नाटक में तत्काल प्रभाव से आचार संहिता लागू हो गया है। हालांकि मुख्य चुनाव आयुक्त की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक विवाद भी पैदा हो गया। दरअसल, उनके ऐलान से पहले ही चुनाव की तारीख लीक हो गई।


दरअसल  भारतीय जनता पार्टी के आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने मुख्य चुनाव आयुक्त की प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले ही ट्वीट कर बताया कि, कर्नाटक में 12 मई को वोटिंग होगी। अमित मालवीय ने सुबह 11 बजकर 8 मिनट पर ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा कि कर्नाटक में 12 मई को वोटिंग होगी, जबकि मतगणना 18 मई को होगी।


बीजेपी आईटी सेल के अध्यक्ष अमित मालवीय ने जिस वक्त ये ट्वीट किया, उस वक्त दिल्ली में चुनाव आयुक्त ओ पी रावत की प्रेस कॉन्फ्रेंस चल रही थी। मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत चुनाव के बारे में बता ही रहे थे, उन्होंने न ही मतदान की तारीख बताई थी और न ही मतगणना की तारीख की घोषणा किया था। इसके बावजूद अमित मालवीय ने ट्वीट कर चुनावों को लेकर सारी जानकारी दे दिया था।


 इस पर विवाद बढऩे के बाद अमित मालवीय ने अपने  ट्वीट को डिलीट कर दिया था । मुख्य चुनाव आयुक्त रावत से जब इस संबंध में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, यह गंभीर मामला है। इसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

चुनाव आयोग की गोपनीयता एवं सुरक्षा व्यवस्था पर गंभीर प्रश्न चिन्ह 

देश के लोकतंत्र में चुनाव आयोग के भूमिका पर सवालिया निशान लगा है कि कर्नाटक चुनाव की तारीखों की घोषणा चुनाव आयोग से पहले बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख द्वारा करना, चुनाव की गोपनीयता एवं सुरक्षा व्यवस्था पर गंभीर प्रश्न चिन्ह लगाता है। चुनाव आयोग इतनी गुप्त जानकारी को सुरक्षित नहीं रख पाया तो लाखों ईवीएम को कैसे गुप्त और सुरक्षित रखेगा?

इसको लेकर सोशल मीडिया में चुनाव आयोग और बीजेपी बहुत किरकिरी हुई। ट्विटर यूजर्स ने चुनाव आयोग और बीजेपी पर ट्विट के जरिये सवालों के बौछार कर दिया । 


इस पर पत्रकार अभिसार शर्मा ने ट्वीट कर कहा, 'संस्कारी IT सेल के प्रमुख ने पारिवारिक चैनल का हवाला देकर कहा के मुझे वहां से जानकारी मिली... देखिए कितना पारिवारिक माहौल है... सब परिवार के अंदर चल रहा... आपस मे कितना प्यार बेशुमार..... All in the family. '



मशहूर कवी और शायर कुमार विश्वास ने ट्विट किया की , ' तारीख़ तो बता ही दी, लगे हाथ रिज़ल्ट भी घोषित कर ही देते IT Cell जी! '



आचार्य प्रमोद ने ट्वीट किया  कि,'चुनाव आयोग की “घोषणा” से पहले ही,चुनाव की “Date” बताने वालों, अब ये भी बता दो के “EVM” में सीट कितनी “FEED” की हैं। '





इसी पर मशहूर कवी इमरान प्रतापगढ़ी ने ट्विट किया , 'फेसबुक डेटा लीक से लेकर इलेक्शन डेट लीक तक़, उनके आईटी सेल वाले चुनाव को लेकर शर्मनाक़ तरीक़े से इस कदर से एडवांस हो चुके हैं की कभी-कभी तो लगता है की कहीं ऐसा ना हो की लगे हाथ ट्विटर पर ही सरकार बनाने की तारीख़ की भी घोषणा कर दें। '



 बता दे चुनाव आयोग ने घोषणा किया कि, कर्नाटक में 12 मई को वोट डाले जाएंगे और 15 मई को वोटों की गिनती होगी। चुनाव आयोग के मुताबिक 17 से 24 अप्रैल तक नामांकन भरे जाएंगे। इसके बाद 25 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी, जिसके बाद 27 अप्रैल तक उम्मीदवार अपना नाम वापस ले सकेंगे।


0/Post a Comment/Comments

Thanks For Visiting and Read Blog

Stay Conneted