BJP के इशारे पर दिल्ली को ठप्प करना चाहते हैं LG : CM Arvind Kejriwal


BJP के इशारे पर दिल्ली को ठप्प करना चाहते हैं LG : CM Arvind  Kejriwal
अरविन्द केजरीवाल (मुख्यमंत्री दिल्ली ) और अनिल बैजल (LG दिल्ली )


दिल्ली विधानसभा के बजट सत्र में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विपक्ष में बैठी बीजेपी और उनके द्वारा अप्वाइंट किए गए उपराज्यपाल पर जमकर निशाना साधा।

यह भी पढ़े : Delhi High Court ने राष्ट्रपति का फैसला पलटा, 20 AAP MLAs की सदस्यता बहाल


मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विधानसभा में सदन को सम्बोधित करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार के पास कोई शक्ति नहीं छोड़ रखी लेकिन सारी ज़िम्मेदारी और जवाबदेही हमारी तय कर दी गई है।  जबकि दिल्ली के उपराज्यपाल के पास सरकार की सारी शक्तियां हैं लेकिन उनके पास कोई जवाबदेही और ज़िम्मेदारी नहीं है। एलजी साहब बिना जवाबदेही के सारी शक्तियां का आनंद उठा रहे हैं।

केंद्र सरकार ने छीन ली दिल्ली सरकार शक्तियाँ : केजरीवाल 

यह भी पढ़े : केजरीवाल का ऐलान, छत्तीसगढ़ के सभी 90 सीटों पर चुनाव लड़ेगी AAP


हमने जितनी फ़ाइल भेजी उनमें से सारी महत्वपूर्ण फाइलों को एलजी साहब ने रिजेक्ट करके भेज दिया। LG साहब ने कबूला कि वो फाइलें उन्होंने खारिज कर दी। अक्सर गलत फैहमी फैलाई जाती है कि शीला जी के टाइम में तो कोई गड़बड़ी नही हुई, ये आप ही की सरकार है जो लड़ती रहती है।

यह भी पढ़े : मुख्य सचिव ने कहा कैबिनेट बैठक की वीडियो जारी न करें, सीएम केजरीवाल ने करवाया था रिकॉर्डिंग


आपको बताना चाहेंगे कि शीला जी के पास जो पावर थी वो आज हमारी सरकार से सारी पॉवर छीन ली गई है। कौन-कौन सी पॉवर थी जो हमारी सरकार से छीन ली गई है। ये 5 पॉवर थी। वो किसी भी अफसर को ट्रासंफर कर सकती थीं।उसकी पोस्टिंग कर सकती थीं। उन्हें लगता था ये अफसर अच्छा है, अच्छा काम करता है, उसे ये पोस्टिंग दे दो। उनको ये लगता था ये अफसर गड़बड़ है, तो उनके पास पॉवर थी कि उसको हटा सकती थीं। मुझे बताया गया कि एक दो अफसर ऐसे है जिन्हें एक साल तक बिना पोस्टिंग के रखा गया था। 

यह भी पढ़े : सीलिंग को लेकर भाजपा नहीं है गंभीर, अध्यादेश से ही रुकेगी दिल्ली की सीलिंग : सौरभ भारद्वाज


अश्वनी कुमार को 7-8 महीने तक बिना पोस्टिंग के रखा था। क्योंकि वो ठीक काम नहीं कर रहे थे। उनके पास पावर थी ट्रासंफर और पोस्टिंग करने की। वो पॉवर हमारे आने के बाद हमसे केंद्र सरकार ने छीन ली। आज हम किसी भी अफसर की ट्रांसफर -पोस्टिंग नहीं कर सकते तो फिर उनसे काम कैसे कराएंगे? वो अफ़सर तो हमारी मानेगा ही नहीं।

दिल्ली में एलजी की तानाशाही : अरविन्द केजरीवाल 


मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने 300 फाइलें पॉलिसी से जुड़ी हुई एलजी साहब के पास भेजी लेकिन उन्होंने वापस लौटा दीं। हम आज कोई नई भर्तियां नहीं कर सकते,  हम किसी अफसर को जेल नहीं भेज सकते, छोटी-छोटी फाइल LG मांगते हैं। शहीदों के मुआवजे की फाइल भी LG ने रोकी, शहीदों को एक करोड़ का मुआवजा देती है सरकार, 2 साल तक फाइलों का जवाब नहीं आया। LG हेड मास्टर की तरह व्यवहार करते हैं, सारी शक्तियां एलजी साहब के पास हैं लेकिन उनके पास कोई जवाबदेही नहीं हैं, जबकि सारी जवाबदेही हमारे पास दे रखी है लेकिन हमें कोई पावर नहीं दे रखी।


0/Post a Comment/Comments

Thanks For Visiting and Read Blog

Stay Conneted