राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने किया अपोलोमेडिक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल का उद्घाटन

राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द



लखनऊ : राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने लख़नऊ में किया अपोलोमेडिक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल का उद्घाटन । समारोह में राज्यपाल राम नाईक, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा, परिवार कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी भी मौजूद रहे ।






राष्ट्रपति को एयरपोर्ट पर राज्यपाल राम नाईक व गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने किया स्वागत 


इसस पहले राष्ट्रपति लखनऊ एयरपोर्ट पर पहुंचेत्र जहां राज्यपाल राम नाईक व गृह मंत्री भारत सरकार  राजनाथ सिंह ने पुष्प भेट कर के किया स्वागत। साथ ही उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, मुख्य सचिव अनूप चन्द्र पांडेय, मण्डलायुक्त अनिल गर्ग, जिलाधिकारी लखनऊकौशल राज शर्मा व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शकलानिधि नैथानी ने पुष्प भेट करके  राष्ट्रपति  का स्वागत किया।

यह भी पढ़े - कौन हैं देश के लिए सर्वोच्‍च बलिदान देने वाले CRPF के शहीद जवान


केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि देश बहुत तेजी से मेडिकल टूरिज्म का प्रमुख केंद्र बनता जा रहा है इसके लिए कई सहूलियत की है ई वीजा 30 दिन से बढ़ाकर 60  दिन कर दिया गया है मेडिकल वीजा में ट्रिपल एंट्री सिस्टम लागू किया गया है। 





स्वच्छ भारत अभियान से हम महामारी ओं पर काबू पा रहे हैं आयुष्मान भारत योजना गरीबों के लिए वरदान साबित हो रही है क्योंकि अभी इंडिया में लोगों को अपनी अपनी आमदनी का 59% स्वास्थ्य पर खर्च करना पड़ता है अभी भारत अपना जीडीपी का 1.16 प्रतिशत स्वास्थ्य सुविधाओं पर खर्चा कर रहा है जो कि ब्रिक्स देशों में कम है अब इसे बढ़ाकर ढाई प्रतिशत किया जाएगा



शनिवार को पत्रकारों को संबोधित करते हुए संस्थापक एवं सह-चेयरमैन डॉ.सुशील गट्टानी ने बताया था कि उन्हें यह बात हमेशा परेशान करती थी कि उत्कृष्ट इलाज के लिए लोगों को दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े अनजान शहरों में जाकर डेरा डालना पड़ता था।

यह भी पढ़े - पुलवामा हमले के बाद भी चीन ने मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने की अपील का नहीं करेगा समर्थन


जहां इलाज का खर्च बढ़ जाता है वहीं, परेशानी वाले दिनों में अपनी की कमी भी अखरती है। अपोलोमेडिक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल ऐसे लोगों के लिए बड़ी राहत साबित होगा। 


केवल इलाज ही नहीं उद्देश्य है लोगों का बीमारियों से बचाया जाए



अपोलो हॉस्पिटल ग्रुप के अध्यक्ष एवं अपोलोमेडिक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ. हरीप्रसाद ने कहा कि अपोलो देशवासियों को अंतरराष्ट्रीय मानकों की स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करा रहा है। लखनऊ में अपोलो समूह का 72वां हॉस्पिटल शुरू हो रहा है।


डॉ.प्रसाद ने कहा कि लोग आज बड़ी संख्या में  गैर संक्रामक रोग जैसे डायबिटीज, हार्ट डिजीज, कैंसर, हाइपरटेंशन जैसी समस्याओं से पीडि़त हैं। इसके अलावा ट्रामा में उन्हें क्रिटिकल केयर की जरूरत पड़ती है। उन्होंने कहा कि केवल इलाज ही नहीं उद्देश्य है लोगों का बीमारियों से बचाया जाए।


यह भी पढ़े - शहीदों की बात पर सीएम योगी आदित्यनाथ के टूट गये सब्र का बांध



इसके लिए आधुनिक उपकरणों से युक्त डायग्नोस्टिक सुविधाएं मुहैया कराई गई है। जितनी जल्दी बीमारी का पता लगेगा इलाज उतना ही आसान होगा।


हॉस्पिटल के  सीईओ-हेल्थकेयर डॉ. मयंक सोमानी ने कहा कि यहां एमआरआइ, पैट स्कैन, ट्र-बीम लाइनेक, 128 स्लाइस सीटी स्कैन, कार्डियक और न्यूरो कैथ लैब, अत्याधुनिक पैथ लैब व 24 घंटे की इमरजेंसी सेवाएं उपलब्ध हैं।

30 से ज्यादा स्पेशियलिटी थे मौजूद


न्यूरोसाइंसेस, कार्डियक, आर्थो, आंको सहित 30 से ज्यादा स्पेशियलिटी यहां मौजूद हैं। कहा कि मेडिकल टूरिज्म की बात की जाती है लेकिन हकीकत यह है कि प्रदेश के 20 करोड़ लोगों के लिए भी चिकित्सा की पर्याप्त सुविधाएं नहीं हैं। प्रदेश में चिकित्सकों की नहीं बल्कि इंफ्रास्ट्रक्चर की जबर्दस्त कमी है।






राष्ट्रपति अपोलो हॉस्पिटल के उदघटन के बाद सीधे राजभवन जाएंगे। इसके बाद शाम को कानपुर रोड स्थित अपोलो अस्पताल के उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल होंगे। राज्यपाल द्वारा राजभवन में राष्ट्रपति को रात्रि भोज दिया जाएगा। रात्रि विश्राम के बाद सोमवार सुबह राष्ट्रपति विमान से कानपुर रवाना हो जाएंगे। 


यह भी पढ़े - अंबानी के लिए रक्षा मंत्रालय और सुप्रीम कोर्ट से भी झूठ बोला प्रधानमंत्री ने - रवीश कुमार


0/Post a Comment/Comments

Thanks For Visiting and Read Blog

Stay Conneted