केजरीवाल ने किया था मैक्स हॉस्पिटल का लाइसेंस रद्द, LG ने किया बहाल



Delhi CM



नई दिल्ली :  जिस  तरह  से  मैक्स अस्पताल  पर  दिल्ली की  केजरीवाल सरकार द्वारा लिए गए कड़े फ़ैसले को दिल्ली के उपराज्यपाल द्वारा पलट दिया गया  है। इस पर आम  आदमी पार्टी बीजेपी पर आरोप  लगया और कहा  कि  यह  दिखाता  है  कि  बीजेपी  के  लोग पर्दे  के पीछे  बैठकर उपराज्यपाल के माध्यम से इन स्वास्थ्य माफ़ियाओं को बचा  रहे  हैं और दिल्ली की जनता के हित को दरकिनार कर रहे हैं।



'आप ' कार्यालय में आयोजित हुई प्रैस कॉंफ्रेस में बोलते हुए पार्टी के विधायक और दिल्ली प्रदेश के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि ‘जिस कथित निष्पक्ष अफ़सर ने दिल्ली की केजरीवाल सरकार के इस फ़ैसले को पलटते हुए मैक्स शालीमार बाग को राहत दी है दरअसल उस अफ़सर की नियुक्ति दिल्ली के एलजी ही करते हैं और एलजी ही उन्हें अपनी शक्तियां डैलीगेट करते हैं, उन्हीं शक्तियों के आधार पर उन्होंने मैक्स को बचाने का काम किया है। यह स्पष्ट हो गया है कि मैक्स शालीमार बाग को राहत देने में बीजेपी और उनकी केंद्र सरकार द्वारा नियुक्त उनके एलजी की भूमिका प्रमुख है।  

‘दिल्ली से बीजेपी के सांसद और दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने तो खुलकर मैक्स अस्पताल का बचाव किया था और वो दिल्ली की जनता के ख़िलाफ़ जाते हुए उन स्वास्थ्य माफ़ियाओं के साथ खड़े हो गए थे। जो माफ़िया अपने अस्पतालों के माध्यम से दिल्ली की जनता का ख़ून चूसते हैं।



सौरभ भारद्वाज ने कहा कि जब आम आदमी पार्टी के विधायक दिल्ली सरकार के अफ़सरों के साथ बुराड़ी में राशन माफ़ियाओं की दुकान पर छापा मारते हैं और भ्रष्टाचार के चलते दिल्ली सरकार उन दुकानों का लाइसेंस रद्द करती है तो बीजेपी के नेता उपराज्यपाल के माध्यम से दिल्ली की केजरीवाल सरकार के फ़ैसले को पलटवाकर माफ़िया की दुकान को फिर चालू करा देते हैं और उल्टा हमारी पार्टी के विधायक पर ही मुकदमा दर्ज़ करा देते हैं। 

जब दिल्ली की केजरीवाल सरकार प्राइवेट स्कूल माफ़िया के ख़िलाफ़ एक्शन लेते हुए स्कूल को अधिग्रहित करने की कोशिश करती है तो एलजी माध्यम से बीजेपी फिर से पर्दे के पीछे से अपना खेल खेलते हुए स्कूल माफ़िया को बचा लेती है।



आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता दिलीप पांडे ने कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा दिल्ली की जनता के हक़ में लिए गए मैक्स अस्पताल के रद्दीकरण के फ़ैसले को जिस प्रकार से अपीलेट अथॉरिटी ने पलटा है वो यह साबित करता है कि बीजेपी के नेता पर्दे के पीछे से इन कॉरपोरेट अस्पताल माफ़ियाओं के लिए काम कर रहे हैं और दिल्ली की जनता के ख़िलाफ़ जा रहे हैं।

दिलीप पांडे ने कहा कि दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी आख़िर क्यों मैक्स अस्पताल के पक्ष में खड़े हुए थे? हमने तब भी पूछा था और आज भी पूछ रहे हैं कि आखिर बीजेपी नेता मनोज तिवारी की मैक्स अस्पताल के साथ क्या डील हुई है? दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार हमेशा की तरह दिल्ली की आम जनता और आम आदमी के हक़ में इसी तरह से फ़ैसले लेती रहेगी क्योंकि हमें दिल्ली की जनता ने चुना है और हम दिल्ली की जनता के हक़ में इसी तरह से काम करते रहेंगे। 

0/Post a Comment/Comments

Thanks For Visiting and Read Blog

Stay Conneted