उन्नाव रेप पीड़िता का सुरक्षाकर्मी ही आरोपी BJP विधायक को देता रहा हर जानकारी - पीड़ित परिवार

उन्नाव रेप पीड़िता का सुरक्षाकर्मी ही आरोपी BJP विधायक को देता रहा हर जानकारी - पीड़ित परिवार
उन्नाव रेप पीड़िता का सुरक्षाकर्मी ही आरोपी BJP विधायक को देता रहा हर जानकारी - पीड़ित परिवार 



लखनऊ : उन्नाव रेप पीड़िता के एक्सीडेंट मामले में BJP विधायक कुलदीप सेंगर सहित 10 लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है। उन्नाव रेप पीड़िता के चाचा ने यह एफआईआर दर्ज करवाई है। उधर, एफआईआर के अनुसार एक नया मामला सामने आया है। एफआईआर के अनुसार उन्नाव रेप पीड़िता की सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मियों ने उसकी गतिविधियों की सूचना जेल में बंद बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर को पहुंचाई थी। 








बता दें कि 2017 में नाबालिग का बीजेपी विधायक ने कथित तौर पर रेप किया था, जिसकी कार रविवार को यूपी के रायबरेली में दुर्घटना की शिकार हो गई। कार को उल्टी दिशा से आ रहे एक ट्रक ने सामने से टक्कर मारी थी। हादसे में पीड़िता की मौसी, चाची और ड्राइवर की मौत हो गई थी, वहीं पीड़ित लड़की और उसका वकील गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती हैं। 


'हम उठाएंगे जिम्मेदारी' -  स्वाति मालीवाल DCW दिल्ली 



मालीवाल ने ट्विटर पर पोस्ट किया, 'मैं उन्नाव पीड़िता, वकील और डॉक्टर से मिली।  डॉक्टर ने बताया लड़की और वकील की स्थिति बहुत नाज़ुक है और बचने के आसार कम हैं। वो मानते हैं कि उनको तुरंत विमान से दिल्ली के सबसे बेहतर अस्पताल में ले जाना चाहिए। परिवार भी यही चाहता है। अस्पताल से मैं बात कर रही हूं। ये जिम्मेदारी हम उठाएंगे।' उन्होंने यह भी दावा किया कि उत्तर प्रदेश में आदित्यनाथ सरकार से कोई भी महिला से अब तक मिलने नहीं आया है। 




उन्होंने ट्विटर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को टैग करते हुए लिखा, 'योगी आदित्यनाथ सरकार से अब तक परिवार से मिलने के लिये कोई नहीं आया। डीजीपी कह रहे हैं कि यह दुर्घटना थी। योगी आदित्यनाथ जी अस्पताल आकर देखिये। कुलदीप सेंगर की विधायकी छीनी जानी चाहिए। उच्चतम न्यायालय मामले को दिल्ली स्थानांतरित करे और 15 दिन के अंदर सेंगर को फांसी दिलानी चाहिए। आज वो बच गया तो देशभर की निर्भया हताश हो जाएंगी।'










पीड़िता की रायबरेली जाते समय हुआ हादसा


गौरतलब है कि भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली पीड़िता, उसकी चाची और मौसी अपने वकील महेंद्र के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने रिश्तेदार से रविवार को मुलाकात करने जा रही थीं।  रास्ते में रायबरेली के गुरबख्श गंज क्षेत्र में यह हादसा हुआ। इस हादसे में पीड़िता की चाची (50) ने स्थानीय अस्पताल में दम तोड़ दिया था। वहीं, हादसे में घायल उसकी मौसी (45) को लखनऊ स्थित ट्रामा सेंटर में चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया था। 

0/Post a Comment/Comments

Thanks For Visiting and Read Blog

Stay Conneted